makar sankranti in hindi || makar sankranti in hindi essay


                  मकर संक्रांति


मकर संक्रांति पर्व हिंदुओं का एक प्रमुख त्यौहार है | मकर संक्रांति पर सूर्य के उत्तरायण होने पर मनाया जाता है | यह सब पर्व से अलग है यह हर वर्ष 14 जनवरी को ही मनाया जाता है, जब सूर्य उदय होकर मकर रेखा से गुजरता है |
कभी-कभी यह पर्व 1 दिन पहले या 1 दिन बाद यानी 13 या 15 जनवरी को मनाया जाता है लेकिन ऐसा कम ही होता है | मकर संक्रांति का सीधा संबंध पृथ्वी के भूगोल और सूर्य की स्थिति से है | जब सूर्य मकर रेखा पर आती है ,वह 14 जनवरी का होता है अतः इस दिन मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है |

ज्योतिषओं की मानें तो इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश करता है और सूर्य के उत्तरायण की गति प्रारंभ होता है |

भारत में इस पर्व को अलग-अलग क्षेत्रों में अलग अलग नाम से जाना जाता है | तमिलनाडु ,केरल ,आंध्र प्रदेश में इस पर्व को "पोगल" कहा जाता है | पंजाब और हरियाणा में जब नई फसल आते है तो उसके स्वागत के लिए " लोहडी पर्व " मनाते है । असम में जो बिहू पर्व है वह मकर संक्रांति पर्व ही है लेकिन वे लोग उसे बिहू के नाम से जानते  हैं। बिहू पर्व असम का प्रमुख त्योहारों में से एक है।


मकरसंक्रांति में पतंग भी उड़ाई जाती है बच्चों के साथ साथ बड़े भी मिलकर इस पर्व को बहुत धूमधाम से मनाते हैं और नीले आसमान में रंग-बिरंगे पतंग उड़ाई जाती है मानो आसमान में बहुत सारे तितली  उड़ती रही हो। बहुत सारे जगहों में पतंगबाजी का समारोह आयोजित भी किया जाता है।
मकर संक्रांति के दिन अमीर हो चाहे गरीब सभी के घरों में गुण एवं चुरा के लड्डू भी बनाए जाते हैं और इस पर्व में तिल का लड्डू मुख्य है।
makar sankranti in hindi eassy || makar sankranti in hindi
makar sankranti in hindi essay

उस दिन प्रत्येक व्यक्ति सुबह उठकर स्नान करते हैं और सूर्य देवता को प्रणाम करते हैं और बडे का आशीर्वाद लेते हैं।


Newest
Previous
Next Post »